Saturday, 20 March 2021

पंथ प्ररस्ती है पहचान, किताब साडा चौन निशान’’ चुनाव अभियान की टैग लाईन होंगी : जीके

 जागो पार्टी ने पार्टी का अधिकृत झण्डा एवं प्रचार गीत जारी किया


"

नई दिल्ली (20 मार्च 2021) : दिल्ली कमेटी के आम चुनावों से पहले आज जागो पार्टी ने पार्टी का अधिकृत झण्डा एवं प्रचार गीत जारी किया। पार्टी ऑफिस में पार्टी के अन्तर्राष्ट्रीय अध्यक्ष मनजीत सिंह जीके ने गीत एवं झण्डा जारी करते हुए कहा कि आज जत्थेदार संतोख सिंह जी का 92वां जन्म दिवस है। इसलिए पंथ प्रति उनके द्वारा की गई सेवाओं को आगे रखते हुए आज के दिन इन्हें जारी किया गया है। जीके ने कहा कि मेरे पिता एवं मेरे द्वारा बीते 70 वर्षो के दौरान किये गये मुख्य कार्यो को इस गीत में शामिल किया गया है। गीत को गायक इशू सोंध ने गाया व गीतकार हैपी लखीपुरीया ने लिखा और गुरप्रीत सिंह सिधू ने संगीत दिया हैं। जीके ने इशू सोंध एवं गुरप्रीत सिधू को शाल भेंट कर सम्मानित किया।

 जीके ने बताया कि इस गीत को पार्टी के कार्यक्रमों के दौरान संगतों को पार्टी के बारे बताने के लिए बतौर प्रचार गीत के तौर पर दिखाया व सुनाया जाएगा। इस गीत का मुख्य छंद ‘‘पंथ प्ररस्ती है पहचान, किताब साडा चौन निशान’’ चुनाव अभियान की टैग लाईन है। जीके ने कहा कि बतौर पंथक पार्टी हम दिल्ली के भीतर अहम भूमिका इन चुनावों में निभाएंगे।
............

जत्थेदार संतोख सिंह जी के जन्म दिवस पर जागो पार्टी ने निकाली जागो राइड

नई दिल्ली (20 मार्च 2021)ः दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के पूर्व अध्यक्ष जत्थेदार संतोख सिंह जी के जन्म दिवस पर आज जागो पार्टी द्वारा जागो राइड का आयोजन किया गया। गुरुद्वारा शीशगंज साहिब की कोतवाली वाले स्थान से जागो पार्टी के अन्तर्राष्ट्रीय अध्यक्ष मनजीत सिंह जीके ने जत्थेदार संतोख सिंह के द्वारा कौम के लिए किये गये कार्यो का विवरण देने के बाद जागो राइड की शुरूआत की। गुरुद्वारा शीशगंज साहिब से दरियागंज, आई.टी.ओ., तिलक ब्रिज होती हुई राइड गुरु हरिक्रिशन पब्लिक स्कूल इडिंया गेट में समाप्त हुई। इस अवसर पर संगतों को संबोधित करते हुए जीके ने जत्थेदार संतोख सिंह द्वारा बतौर कौम के नेता किये गये मुख्य कार्यो पर प्रकाश डाला।

जीके ने कहा कि गुरु तेग बहादर साहिब कोतवाली वाले स्थान पर औरंगजेब की कैद में रहे थे। इसलिए जत्थेदार संतोख सिंह जी का सपना था कि कोतवाली वाला स्थान सिख पंथ को मिलना चाहिेए। कोतवाली के स्थान को गुरुद्वारा शीशगंज साहिब के साथ मिलाने की सारी व्यूहरचना जत्थेदार जी ने कर ली थी। परन्तु कुछ लोगों ने मुस्लिम नेताओं को जत्थेदार जी के बारे में भड़का दिया। मुस्लिम नेताओं को समझाया गया कि यदि आपने सिखों को कोतवाली वाला स्थान दे दिया तो फिर यह सुनहरी मस्जिद पर भी दावा करेंगे क्योंकि सुनहरी मस्जिद वाले स्थान से गुरु तेग बहादर साहिब को शहीद करने का फतवा सुनाया गया था। परन्तु जत्थेदार संतोख सिंह ने जामा मस्जिद के शाही इमाम अब्दुल्ला बुखारी को विश्वास में लेकर कोतवाली वाला स्थान कौम को दिला दिया था। साथ ही मुस्लिम नेताओं को वायदा किया था कि सिख कभी भी सुनहरी मस्जिद पर दावा नहीं करेंगे।

जीके ने कहा कि कोतवाली की तरह जत्थेदार जी के जीवन का दूसरा बड़ा काम गुरु हरिक्रिशन पब्लिक स्कूल की श्रृंखला को इंडिया गेट से शुरू करना था। 5 हजार करोड़ रुपये कीमत की इस बिल्डिंग को उस समय शेखूपुरा हाऊस के नाम से जाना जाता था। 6 हजार रूपये महीने के किराये पर लेकर दिल्ली कमेटी के नाम इस बिल्डिंग को करवाने तक जत्थेदार संतोख सिंह एवं उनके साथियों ने बड़े कार्य किये थे। इस स्कूल का प्रथम विद्यार्थी होने के नाते मेरा गुरु हरिक्रिशन पब्लिक स्कूल के साथ गहरा जुड़ाव है।  इस अवसर पर सैंकड़े दोपहिया वाहनों ने जागो राइड में भाग लिया।

Subscribe to get more videos :